23 March Bhagat Singh Shayari Facebok Status

shahid bhagat singh shayari in hindi,bhagat singh love shayari,bhagat singh par shayari,23 march bhagat singh shayari hindi,bhagat singh hindi status,desh bhakti shayari 2019,hindi poems on bhagat singh,kumar vishwas desh bhakti shayari in hindi






उसका दिल भी रोया होगा...
जब एक माँ ने कलेजे का टुकड़ा खोया होगी...!
ऐ शहीदे-ए-आजम फक्र है हमे तेरी शहादत पर...!






ज़िन्दगी तो अपने दम पर ही जी जाती हे … 
दूसरो के कन्धों पर तो सिर्फ जनाजे उठाये जाते हैं .







 शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पे मर मिटनेवालों का बाकी यही निशां होगा





 इतनी सी बात हवाओं को बताये रखना
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने
ऐसे तिरंगे को हमेशा दिल में बसाये रखना





 लिख रहा हूं मै अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा,






वीर भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के बलिदान दिवस पर उनको शत् शत् नमन
जब इश्क और क्रांति का अंजाम एक ही है
तो राँझा बनने से अच्छा है भगतसिंह बन जाओ...






खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं,
मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,
करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों,
तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है…






वतन के रखवाले हैं हम
शेर -ए-जिग़र वाले हैं हम
मौत से हमें क्यों डर लगेगा
मौत को बाँहों में पाले हैं हम
जय हिन्द वन्दे मातरम






ऐ वतन ऐ वतन,
हमको तेरी कसम !!
फूल क्या चीज है,
तेरे कदमो मे हम !!
भेंट अपने सरो की चढ जाएंगे॥






 लिख रहा हूं मै अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
 मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा,



  जो अब तक ना खौला, वो खून नहीं पानी है,
    जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है




    हम अपने खून से लिक्खें कहानी ऐ वतन मेरे.
    करें कुर्बान हँस कर ये जवानी ऐ वतन मेरे.





ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये....








 जमाने भर में मिलते हैं आशिक कई,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,
नोटों में भी लिपट कर,
सोने में सिमटकर मरे हैं शासक कई, 
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफन नहीं होता



Previous
Next Post »